दुनिया की सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली messaging app whats app  ने एक बड़ा खुलासा किया है। इस खुलासे के बाद whats app  इस्तेमाल करने वाले करोड़ों यूजर्स को अपने पर्सनल डेटा और बातचीत पर खतरा मंडराता दिख रहा है। Whatsapp ने एक इजरायली कंपनी पर जासूसी का आरोप लगाते हुए एक मुकदमा दर्ज किया है। आरोप है कि कंपनी के software  का उपयोग कर whats app  के जरिए पत्रकारों, वकीलों और कई सामाजिक कार्यकर्ताओं की जासूसी की है।
        indian Express  की report के अनुसार, whats app  ने इजरायल की cyber intelligence company NSO Group पर जासूसी का ये आरोप लगाया है। बताया जा रहा है कि भारत में ऐसे कई लोगों पर इस कंपनी के एक सॉफ्टवेयर के जरिए नजर रखी जा रही थी। परंतु  whats app ने साफ नहीं किया है कि किन किन लोगों पर नजर रखी जा रही थी।

 whats app  के प्रवक्ता ने इस बड़ी जासूसी का खुलासा करते हुए कहा:-
  "Whatsapp के जरिए जिन लोगों की निगरानी रखी जा रही थी, उनसे पर्सनली संपर्क किया गया है और बताया गया है कि उनकी सभी जानकारियां leak हो रही हैं। इसके तहत कई भारतीय पत्रकार और अन्य लोगो को टारगेट किया गया है। मैं उनकी पूरी जानकारी और नंबर शेयर नहीं कर सकता हूं।”

 इस पूरी घटना के पश्चात information technology (IT) विभाग ने whatsapp से 4 नवंबर तक जवाब मांगा है।

सिर्फ एक मिस्ड कॉल और पूरी जानकारी leak:-

Whats app के प्रवक्ता के अनुसार आरोपी कंपनी ने एक spyware pegasus का इस्तेमाल किया। इस software को किसी भी smartphone पर बस एक whats app video call के जरिए install किया जा सकता है। अर्थात एक missed call की सहायता से आपका स्मार्टफोन  दूसरे के कंट्रोल में चला जाता है । जिससे आपके फोन कि प्रत्येक chat, photos , videos‌ आदि का फायदा Hackers उठा सकते हैं।‌ साथ ही साथ इस स्पाइवेयर के जरिए आपके फोन का माइक्रोफोन तथा कैमरा भी कंट्रोल किया जा सकता है। जिससे हैकर आपकी बातें सुन सकता है।

1 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post